» » भारतीय नौसेना में बनाये बेहतर करियर

भारतीय नौसेना में पायलट/ प्रेक्षक के तौर पर शार्ट कमीशन अधिकारी बनने के इच्छुक लोग कर सकते है आवेदन।  शार्ट सर्विस कमीशन 10 वर्ष की अवधि के लिए प्रदान किया जाता है लेकिन इसकी अवधी 14 वर्ष तक बढ़ाई भी जा सकती है।
Join Indian Navy

           भारतीय नौसेना अकादमी एझिमला, केरल में जून 2016 से शुरू होने वाले कोर्स के लिए आवेदन कर सकते है।  ये कोर्स कर नौसेना में एक बेहतर करियर बना सकते है जो पायलट/ प्रेक्षक से जुड़े होंगे।  इसके लिए वे लोग ही आवेदन कर सकते है जो अविवाहित हो।  पायलट पद के लिए अविवाहित पुरुष और प्रेक्षक के लिए अविवाहित पुरुष और महिला दोनों ही आवेदन कर सकते है।  इसके लिए अंतिम तिथि 2 अक्टूबर 2015 निर्धारित है।

क्या है योग्यता (Qualification) - इच्छुक आवेदन ने फिजिक्स और मैथ्स के साथ बारह्वी पास की हो और किसी भी स्ट्रीम में बीटेक की पढाई की हो।  पायलट के लिए 60 प्रतिशत के साथ बीई/ बीटेक किया हो इस प्रकार प्रेक्षक के लिए 55 प्रतिशत प्राप्त लोग भी आवेदन कर सकते है।

आयु सीमा (Age limit) - इसके लिए 18 से 25 साल आयु सीमा निर्धारित है।

फिजिकल फिटनेश (Physical fitness)- आवेदक की न्यूनतम लम्बाई 162.5 सेमी पुरुष और 152 सेमी महिलाओं के लिए निर्धारित है।  इसके आलावा दृस्टि 6/6, 6/9 से 6/6 , 6/6 तक।

 चयन का आधार (Selection method)- आवेदको को प्राप्त योग्यताओ के लिए शॉर्टलिस्ट किया जायेगा और इंटरव्यू के लिए बुलाया जायेगा शॉर्टलिस्ट आवेदको को एसएसबी इंटरव्यू बंगलुरू के लिए बुलाया जायेगा जो 5 दिनों तक चलेगा।

इंटरव्यू दो चरणो में किया जायेगा
प्रथम चरण - इस चरण में बौद्धिकता की परीक्षा, चित्र परिकल्पना और सामूहिक चर्चा को शामिल किया जायेगा।
दूसरा चरण - पहले चरण में सफल आवेदक दूसरे चरण में जायेंगे जिसमे मनोवैज्ञानिक परीक्षाये, ग्रुप टास्क और इंटरव्यू होंगे।  सफल लोग पायलट अभिरूचि बैटरी परीक्षा और उड्डयन चिकित्सा से गुजरना होगा।

कैसे करे आवेदन (How to apply) -पायलट/ प्रेक्षक पद के लिए नौसेना की ऑफिसियल वेबसाइट www.joinindiannavy.gov.in  से ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। वेबसाइट पर "अप्लाई ऑनलाइन" के विकल्प में "ऑफिसर्स एंट्री" पर क्लिक करे।  फॉर्म सबमिट करने के बाद प्रिंटआउट निकले और इसकी एक प्रति अपने पास रखे और दूसरी पर फोटो लगाये तथा सभी सेल्फ-अटेस्टेड दस्तावेजो  साथ "पोस्ट बॉक्स नं -2, सरोजनी नगर डाकखाना, नई दिल्ली -23" के लिए भेजे।

क्या होने कर्त्तव्य - 
  • पायलट - बुनियादी उड़ान प्रशिक्षण व कमीशन के बाद विंग्स प्रदान किये जाने पर वायुयान उड़ाने का अवसर मिलेगा प्रशिक्षण प्राप्त लोगो को नौसेना के विभिन्न ओपरेशन्स जैसे सर्फेस, एयर, सब सर्फेस आदि में शामिल होने का मौका मिलेगा।  
  • प्रेक्षक - भारतीय नौसेना उड्डयन शाखा के अंग होंगे।  आपका प्रमुख काम सॉनिक्स, सोनर्स, राडर्स, और संचार उपकरणों का संचालन करना होगा।  

«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post